Category Archives: Other Schemes

भौमिक तथा खनिकर्म खनिज साधन विभाग

उद्देश्य– प्रदेश के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग को गौण खनिज के पट्टों के आवंटन के क्षेत्र में आगे लाना। उत्खनिपट्टा हेतु खनिज– मध्यप्रदेश गौण खनिज नियम 1996 की अनुसूची- I में विर्निदिष्ट खनिज जैसे ग्रेनाइट, मार्बल, भट्टी में जलाकर चूने के निर्माण हेतु चूना पत्थर, फर्शी पत्थर, क्रेशर द्वारा गिट्टी निर्माण के उत्खनिपट्टा

Read More

गौ-संवर्धन से स्वावलंबन परियोजना

उद्देश्य- गौशालाओं में बायोगैस संयंत्र की स्थापना कर, विद्युत उत्पादन, कुकिंग गैस एवं जैविक खाद की उपलब्धता से गौशालाओं को आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने में मदद करना। योजना का स्वरूप एवं कार्य क्षेत्र- गौ संवर्धन बोर्ड में पंजीकृत गौशालाओं में 25,35,45,60 वा 85 घन मीटर क्षमता के बायोगैस संयंत्र की स्थापना की जाती है।

Read More

राष्ट्रीय बायोगैस विकास कार्यक्रम

उद्देश्य- गोबर गैस पर आधारित बायोगैस संयंत्र की स्थापना योजना का स्वरूप एवं कार्य क्षेत्र- गोबर गैस संयंत्र की स्थापना उन हितग्राही के यहां आसानी से की जा सकती है जिनके पास पर्याप्त मात्रा में पशुधन#गोबर उपलब्ध हो। इस योजना के अंतर्गत संयंत्र की क्षमता के आधार पर रु. 2100 से रु. 3500#- तक का

Read More

दीनदयाल चलित अस्पताल योजना (मोबाईल हेल्थ क्लीनिक)

उद्देश्य- राज्य सरकार द्वारा मध्यप्रदेश के सुदूर आदिवासी क्षेत्रों में गुणवत्ता पूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचना। योजना क्रियान्वयन की प्रक्रिया- इस योजना के तहत एक चलित वाहन का निर्माण कराया गया है जिसमें डॉक्टर, स्टाफ, जरूरी उपकरण एवं दवाईयों उपलब्ध हैं। यह चलित वाहन आदिवासी क्षेत्र के ग्रामों एवं हाट बाजारों में सभी वर्ग के लोगों

Read More

जिला राज्य बीमारी सहायता निधि

उद्देश्य- जिला#राज्य बीमारी सहायता निधि के अंतर्गत मध्यप्रदेश के निवासी, गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले गरीब व्यक्ति को घातक एवं जान लेवा बीमारी होने पर मध्यप्रदेश शासन द्वारा नि:शुल्क चिकित्सा सेवा (रु. 25000 से 1,50,000 तक) उपलब्ध कराना है। पात्र हितग्राही- मध्यप्रदेश के मूल निवासी, गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने

Read More

रानी दुर्गावती अनु. जाति/जनजाति स्वरोजगार योजना

स्वयं का उद्योग सेवा एवं व्यवसाय प्रारंभ करने के लिये वित्तीय संस्थाओं द्वारा ऋण प्रदान किया जाता है। हितग्राहियों को स्वरोजगार में स्थापित होने के लिये स्वयं मार्जिन मनी लगाना पड़ती है, वे यह राशि लगाने में असमर्थ होते हैं। उस स्थिति में उन्हें मार्जिन मनी के रूप में सहायता प्रदान की जाती है। हितग्राही

Read More

दीनदयाल रोजगार योजना

उद्देश्य- प्रदेश के शिक्षित बेरोजगार युवक/युवतियों को उद्योग/सेवा/व्यवसाय के क्षेत्र में स्वरोजगार स्थापना के लिये बैंकों/वित्त संस्थाओं द्वारा दिये जाने वाले ऋण के विरुद्ध अपेक्षित मार्जिन मनी को जमा करने में सहायता करना है। पात्रता- मध्यप्रदेश के मूल निवासी वे आवेदक जिनकी आयु 18 से 40 वर्ष के मध्य है, 10वीं कक्षा या आई.टी.आई. उत्तीर्ण

Read More

संरचना उत्पादन एवं प्रक्रिया-

सहकारी समितियों एवं स्वसहायता समूहों को चर्म शोधन/चर्म सामग्री, मिट्टी के बर्तन, धान एवं अनाज, कुटाई चावल मिल, आटा मिल, बेकरी, तेल पराई, ताड़, गन्ने का गुड़, खाण्डसारी, फल/सब्जियों को डिब्बा बंद करना, कृषि/वन उत्पादों का प्रसंस्करण, लोहारी, बढ़ाईगिरी, मधुमक्खी पालन, हस्तशिल्प, रेशम, रेशा कताई, बुनाई, वस्त्रोद्योग, जिल्दसाजी, मुद्रण लकड़ी का समान एवं अन्य उद्योगों

Read More

हाथकरघा संचालनालय द्वारा संचालित योजनाएं

वेलफेयर पैकेज (स्वास्थ्य बीमा योजना)-हाथकरघा बुनाई से अपनी आय का कम से कम 50 प्रतिशत भाग अर्जित करने वाले बुनकर 80 वर्ष की आयु तक स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है। इस योजना में वार्षिक बीमा प्रीमियम रुपये 1000/- है। जिसमें रुपये 800/- प्रतिवर्ष भारत सरकार द्वारा, रुपये 100/- प्रतिवर्ष राज्य शासन

Read More

एकीकृत टसर रेशम विकास एवं विस्तार

प्रदेश के बालाघाट, सिवनी, मंडला, नरसिंहपुर, सीधी एवं झाबुआ के वन क्षेत्रों में साझा -अर्जुन के पौधों पर टसर कृमि पालन हेतु बैसिक सीड निशुल्क उपलब्ध कराया जाता है। हितग्राहियों द्वारा संग्रहित टसर ककून निर्धारित दरों पर क्रय किया जाता है। संपर्क- सहायक संचालक जिला रेशम कार्यालय।