All Popular Schemes of Madhya Pradesh Government for Other Schemes

All Popular Schemes of Madhya Pradesh Government for Other Schemes

  • अर्थाभावग्रस्त लेखकों, कलाकारों और उनके आश्रितों को वित्तीय सहायता

    उद्देश्य- ऐसे व्यक्तियों को, जिन्होंने कला और साहित्य के विकास में योगदान दिया है किन्तु अर्थाभावग्रस्त है और ऐसे लेखकों तथा कलाकारों के आश्रिताओं को, जो अपने परिवारों को असहाय छोड़ गये हैं, मासिक वित्तीय सहायता पहुंचाना। योजना का स्वरूप और कार्यक्षेत्र- इस योजना में मध्यप्रदेश के मूल निवासी, 60 वर्ष से अधिक आयु के ऐसे ...
  • विधिक सेवा (विधिक सहायता /सलाह)

    मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के अंतर्गत कार्यरत उच्च न्यायलय विधिक सेवा समिति, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं तहसील विधिक सेवा समितियों द्वारा गरीब, असहाय, पीड़ित एवं अधिनियम के अंतर्गत पात्र व्यक्तियों को समस्त न्यायालयों में उनके विरुध्द चल रहे प्रकरण या उनके द्वारा न्यायालय में प्रस्तुत किये जाने वाले प्रकरणों में नि:शुल्क विधिक सहायता ...
  • वाहन मालिकों को सुविधाएं

    मोटरयान अधिनियम 1988 और मध्यप्रदेश मोटरयान अधिनियम 1994 द्वारा जन साधारण को नीचे दर्शाये अनुसार सुविधायें उपलब्ध कराई गई है :- (अ) जनसाधारण को पहले लायसेंस प्राप्त कर प्रत्येक पांच वर्ष में उसका नवीनीकरण कराना पड़ता था जिससे उन्हें समय और धन दोनों की हानि होती थी अब मोटरयान अधिनियम 1988 की धारा 14 के अनुसार अनुज्ञप्ति ...
  • ”समाधान एक दिन में – जन सुविधा केन्द्र” की जिले में स्थापना

    उद्देश्य- आम नागरिकों से जुड़ी हुई बहुत सी ऐसी सेवायें हैं, जिनके लिये उन्हें विभिन्न कार्यालयों में भटकना पड़ता है तथा कई बार दलालों के द्वारा ठगे जाते हैं। इसका मुख्य कारण नागरिकों में विभिन्न शासकीय सेवाओं को प्राप्त करने की प्रक्रिया स्पष्ट नहीं होना है। इन समस्याओं को दूर करने के लिये राज्य शासन ...
  • भौमिक तथा खनिकर्म खनिज साधन विभाग

    उद्देश्य– प्रदेश के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग को गौण खनिज के पट्टों के आवंटन के क्षेत्र में आगे लाना। उत्खनिपट्टा हेतु खनिज– मध्यप्रदेश गौण खनिज नियम 1996 की अनुसूची- I में विर्निदिष्ट खनिज जैसे ग्रेनाइट, मार्बल, भट्टी में जलाकर चूने के निर्माण हेतु चूना पत्थर, फर्शी पत्थर, क्रेशर द्वारा गिट्टी निर्माण के उत्खनिपट्टा स्वीकृति ...
  • मुख्यमंत्री आवास योजना

    प्रदेश में बड़ी संख्या में आवासहीन परिवारों को अपने स्वयं के आवास निर्माण करने के लिये मुख्यमंत्री आवास योजना शुरु की गई। इस योजना से ऐसे गरीब परिवारों को अपना मकान बनाने में मदद मिली है जो इंदिरा आवास योजना के दायरे में नहीं आते। अगर यह योजना शुरु नहीं होती तो उन्हें अपना मकान कभी ...
  • दीनदयाल चलित अस्पताल योजना

    जून 2006 से लागू योजना का उद्देश्य प्रदेश के सुदूर आदिवासी अंचलों में गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं पहुँचाना है। इसमें एक चलित वाहन का निर्माण कराया गया है, जिसमें डॉक्टर, स्टाफ, जरूरी उपकरण तथा दवाएं उपलब्घ हैं। यह वाहन आदिवासी क्षेत्रों के गांवों तथा हाट बाजारों में सभी वर्गो र्के लोगों को निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध ...
  • बीमारी सहायता निधि

    जिला/राज्य बीमारी सहायता निधि के अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे के परिवार के व्यक्ति को घातक और जान लेवा बीमारी होने पर डेढ़ लाख रुपए तक निःशुल्क चिकित्सा सेवा उपलब्ध कराई जाती है, इसमें 25 हजार से 75 हजार रुपए तक की सहायता प्रभारी मंत्री और जिला कलेक्टर द्वारा तथा 75 हजार से डेढ़ लाख ...
  • प्रतिभा किरण

    प्रतिभा किरण-योजना का उद्देश्य शहरी क्षेत्र में गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों की मेधावी छात्राओं को शिक्षा का स्तर बढ़ाने के लिए प्रोत्साहन स्वरूप आर्थिक सहायता प्रदान करना है। यह लाभ उन छात्राओं को मिलता है , जिन्होंने शहर की पाठशाला से 12 वीं कक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की हो। उसे उत्तीर्ण वाले ...
  • मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना

    यह ‘मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना’ अपने नागरिकों को हर संभव तरीके से सहायता प्रदान करने के लिए राज्य के गंभीर प्रयासों का एक और उदाहरण है। इस अनूठी योजना के तहत किसी भी धर्म के वरिष्ठ नागरिकों के लिए राज्य सरकार के खर्च पर उनके पसंद के धार्मिक स्थानों का दौरा करने के सुविधा प्रदान ...
  • लघु ऋण वित्त व्यवस्था (माइक्रो क्रेडिट स्कीम)

    परिचय- राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी वित्त एवं विकास निगम नई दिल्ली द्वारा लघु ऋण वित्त व्यवस्था (माइक्रो क्रेडिट स्कीम) लागू की गई है। इस योजना का संचालन म.प्र. राज्य सहकारी अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम द्वारा म.प्र. में संचालित किया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत सफाई कामगारों को रुपये 10,000#- तक का ऋण ...
  • राष्ट्रीय विकलांग वित्त एवं विकास निगम फरीदाबाद द्वारा संचालित योजनायें

    उद्देश्य- अनुसूचित जाति के वे लोग जो कम से कम 40 प्रतिशत शारीरिक#मानसिक रूप से विकलांग हों के आर्थिक उत्थान के लिए फुटकर व्यवसाय हेतु वित्तीय सहायता। योजना का स्वरूप- इस योजनांतर्गत रुपये 50.00 हजार तक की इकाई लागत हितग्राही को ऋण के रूप में प्रदाय की जाती है। य ोजना का कार्यक्षेत्र- संपूर्ण मध्यप्रदेश है। पात्र हितग्राही- अनुसूचित जाति ...
  • प्रतिष्ठा पुनर्वास योजना

    उद्देश्य- सफाई कामगार जो मैला सफाई जैसे अमानवीय कार्य में लगे है, को मुक्त कराकर उनके रूचि अनुसार धंधे में प्रतिस्थापित करना। योजना का स्वरूप- इस योजनांतर्गत सफाई कामगारों को लघु उद्योग, कुटीर उद्योग एवं व्यापार के लिये बैंकों से ऋण राशि रुपये 50,000#- तक उपलब्ध करायी जाती है। स्वीकृत ऋण का 50 प्रतिशत या अधिकतम रुपये ...
  • स्वरोजगार योजना

    उद्देश्य- अनुसूचित जाति के गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे लोगों का आर्थिक उत्थान करना। योजना का स्वरूप- इस योजना में बेरोजगारों को लघु कुटीर एवं व्यापार के लिये बैंकों से ऋण उपलब्ध कराना एवं स्वीकृत ऋण का 50 प्रतिशत या अधिकतम रुपये 10,000#- अनुदान जो कम हो निगम द्वारा दिया जाता है। योजना का कार्यक्षेत्र- ...
  • म.प्र. राज्य सहकारी अनुसूचित जाति, जनजाति वित्त एवं विकास निगम द्वारा संचालित योजनाएं

    कार्य जिसके लिये वित्तीय सहायता प्रदान की जा सकती है। 1. कृषि क्षेत्र- ट्रेक्टर ट्राली 2. सेवा क्षेत्र- जैसे- टेंट हाउस, बेण्डपार्टी, ब्यूटी पार्लर, डी.टी.पी. (कम्प्यूटर) जूता-चप्पल, शूकरपालन आदि। 3. परिवहन- जैसे- आटो रिक्शा, डीजल, पेट्रोल। पात्रता- 1. दुगनी गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाला। 2. अनुसूचित जाति का प्रमाण-पत्र राजस्व अधिकारी द्वारा दिया गया हो। 3. जिले का मूल ...
  • राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी वित्त एवं विकास निगम नई दिल्ली द्वारा संचालित योजनाएं

    उद्देश्य- सफाई कामगार जो मैला सफाई जैसे अमानवीय कार्य में लगे है, को मुक्त कराकर उनके रूचि अनुसार धंधे में स्थापित करना। योजना का स्वरूप- यह निगम हितग्राही को छ: प्रतिशत साधारण वार्षिक ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराता है। कार्य जिसके लिए वित्तीय सहायता दी जा सकती है- ऑटो (डिलिवरी वेन) एवं ऑटो ट्रेलर। योजना का ...
  • अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आकस्मिकता योजना नियम-1995

    उद्देश्य- पीड़ित अनुसूचित जाति#अनुसूचित जनजाति के परिवारों को तत्काल आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाना। योजना का स्वरूप कार्यक्षेत्र एवं पुनर्वास सुविधा- पीड़ित, विपन्नता तथा असहाय अवस्था के कारण संकट से ग्रस्त अनुसूचित जाति और जनजाति के परिवारों को इस कार्यक्रम के माध्यम से निम्नानुसार त्वरित सहायता पहुंचाई जाती है। राहत राशि के लिए मापदण्ड- 1. अखाद्य या घृणाजनक पदार्थ या ...
  • अस्पृश्यता निवारण के लिये अंतर्जातीय विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार

    उद्देश्य- अस्पृश्यता निवारण के लिये अंतर्जातीय विवाह को प्रोत्साहन देना। योजना का स्वरूप और कार्यक्षेत्र- संपूर्ण मध्यप्रदेश में निवासरत अनुसूचित जातियों के लिये यह योजना संचालित है। हितग्राही चयन प्रक्रिया- विवाहित दम्पत्ति में वर अथवा वधु जिसमें एक सवर्ण हो, को योजना का लाभ लेने के लिये जिलाधिकारी को प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत करना चाहिये। आवेदन के साथ आवश्यक प्रमाण पत्र ...
  • विधि स्नातकों को आर्थिक सहायता

    उद्देश्य- विधि स्नातकों को विधि व्यवसाय में सुप्रशिक्षित कर स्वावलम्बी जीवन व्यतीत करने के लिये प्रेरित करना। योजना का स्वरूप और कार्यक्षेत्र- मध्यप्रदेश के सभी जिलों में अनुसूचित जाति के विधि स्नातकों का परीक्षण कर 200#- रुपये प्रतिमाह एक वर्ष के लिये स्वीकृत किये जाते है। हितग्राही चयन प्रक्रिया- विधि स्नातकों के आवेदन पत्र, जिनमें बार कौंसिल ...
  • अनुसूचित जाति जनजाति राहत योजना नियम- 1979

    उद्देश्य- असहाय, संकटापन अनुसूचित जाति के बीमार, निराश्रित एवं विकलांग व्यक्तियों की सहायता करना। योजना का स्वरूप- योजनान्तर्गत ऐसे जरूरतमंद अनुसूचित जाति जनजाति के लोगों को तुरंत आर्थिक सहायता पहुंचाई जाती है जो अपनी निर्धनता और असहाय अवस्था के कारण संकटापन की स्थिति में हों तथा जिन्हें शासन की अन्य योजनाओं से सहायता मिलने की संभावना ...
  • अनुसूचित जाति#जनजाति बस्तियों में विद्युतीकरण एवं कृषकों के कुओं तक विद्युत लाईन का विस्तार

    योजना का स्वरूप- अनुसूचित जाति#जनजाति की बस्तियों#मजरे#टोलों आदि जहां मुख्य ग्राम से विद्युत लाईन नहीं पहुंची हो, ऐसे ग्रामों#बस्तियों में प्रकाश व्यवस्था के लिए विद्युत लाईन का विस्तार किया जाता है। योजनान्तर्गत अनुसूचित जाति#जनजाति बस्ती में एकल बत्ती कनेक्शन#स्ट्रीट लाईट विद्युत लाईन के विकास के अतिरिक्त अनुसूचित जाति#जनजाति के कृषकों के कुओं तक सिंचाई पंपों ...
  • परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण केन्द्र

    उद्देश्य- अनुसूचित जाति जनजाति के स्नातक परीक्षा उत्तीर्ण विद्यार्थियों को भारतीय प्रशासनिक सेवा मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे पी.एम.टी., पी.ई.टी. पी.ए.टी. के लिये प्रशिक्षित करना। योजना का स्वरूप और कार्यक्षेत्र- प्रदेश के भोपाल, ग्वालियर, सागर, इन्दौर, जबलपुर, मुरैना, रीवा संभागों में परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण केन्द्र स्थापित है। प्रशिक्षण अवधि में प्रत्येक प्रशिक्षणार्थियों ...
  • विद्यार्थी कल्याण

    योजना का नाम- आर्थिक रूप से कमजोर अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों को निम्नलिखित विशिष्ट परिस्थितियों में आकस्मिक आवश्यकता की पूर्ति के लिए सहायता दी जाती हैं ताकि वे अपना अध्ययन जारी रख सकें। 1. आकस्मिक विपत्ती में सहायता। 2. विशेष रूप से पीड़ित होने पर रोग निवारण हेतु सहायता। 3. विद्यार्थी की विशेष अभिरूचि को ...
  • छात्रगृह योजना

    उद्देश्य- छात्रगृह योजना का उद्देश्य मैट्रिकोत्तर कक्षाओं में अध्ययनरत अनुसूचित जनजाति अथवा अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों के लिए छात्रावास में स्थान रिक्त न होने के कारण आवासीय सुविधा उपलब्ध कराना है। विद्यार्थियों को छात्रावसीय दर पर मेट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति स्वीकृत की जाती है। योजना का स्वरूप- छात्रगृह योजना के लाभ के लिए पाँच या उससे अधिक अनुसूचित ...
  • नि:शुल्क विद्युत प्रदाय

    योजना का स्वरूप- इस योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले अनुसूचित जाति व जनजाति के एकलबत्ती उपभोक्ताओं को 25 यूनिट प्रतिमाह तथा एक हेक्टेयर तक की जमीन वाले पाँच हार्सपावर तक के अनुसूचित जाति व जनजाति के कृषि उपभोक्ता लाभान्वित होगें। हितग्राही चयन प्रक्रिया- हितग्राहियों को उपरोक्त सुविधा सादे कागज पर ...