छात्रगृह योजना

    उद्देश्य-

छात्रगृह योजना का उद्देश्य मैट्रिकोत्तर कक्षाओं में अध्ययनरत अनुसूचित जनजाति अथवा अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों के लिए छात्रावास में स्थान रिक्त न होने के कारण आवासीय सुविधा उपलब्ध कराना है। विद्यार्थियों को छात्रावसीय दर पर मेट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति स्वीकृत की जाती है।

    योजना का स्वरूप-

छात्रगृह योजना के लाभ के लिए पाँच या उससे अधिक अनुसूचित जनजाति अथवा अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को एक साथ निवास करने पर छात्रगृह की सुविधा के अंतर्गत छात्रावासीय दर पर छात्रवृत्ति तथा भवन का किराया एवं बिजली, पानी के देयकों का भुगतान किया जाता है। संस्था का नियमित विद्यार्थी होना तथा पोस्टमैट्रिक छात्रवृत्ति के लिये आवश्यक शर्तों की पूर्ति करना विद्यार्थियों के लिये आवश्यक है।

    कार्यक्षेत्र-

संपूर्ण मध्यप्रदेश।

    चयन प्रक्रिया-

महाविद्यालीन छात्रों जिनको छात्रावास में प्रवेश नहीं मिलता वे ही अपना आवेदन-पत्र संस्था के प्राचार्य को दे सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.